कानपुर से इत्र कारोबारी पीयूष जैन गिरफ्तार, छापेमारी में अब तक 357 करोड़ कैश-जूलरी बरामद – KANPUR CGST DEPARTMENT ARRESTS perfume BUSINESSMAN PIYUSH JAIN ntc – AajTak

कानपुर से इत्र कारोबारी पीयूष जैन गिरफ्तार, छापेमारी में अब तक 357 करोड़ कैश-जूलरी बरामद  - KANPUR CGST DEPARTMENT ARRESTS perfume BUSINESSMAN PIYUSH JAIN ntc - AajTak

यूपी में कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन को टैक्स चोरी के आरोप में कानपुर से गिरफ्तार कर लिया गया है. जीएसटी इंटेलिजेंस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया है. आरोपी को आगे की कार्रवाई के लिए कानपुर से अहमदाबाद ले जाने की संभावना है. अब तक की छापेमारी के दौरान उनके पास से 257 करोड़ कैश और जूलरी बरामद की गई है. 

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स के अफसरों के अनुसार, जैन को सीजीएसटी एक्ट की धारा 69 के तहत गिरफ्तार किया गया है. एजेंसियों की कार्रवाई के दौरान कारोबारी जैन के घर के अंदर तहखाना मिला और एक फ्लैट में 300 चाभियां मिलीं. इस बरामदगी पर DGGI की तरफ से अधिकृत जानकारी आनी बाकी है.

कानपुर के ज्यादातर पान मसाला मैन्युफैक्चर्स पीयूष जैन से ही पान मसाला कम्पाउंड खरीदती हैं. इस बीच, रविवार को कारोबारी के कन्नौज स्थ‍ित पुश्तैनी घर में भी छापेमारी की गई. 

डीजीजीआई और आयकर विभाग की कार्रवाई

गुरुवार को जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय यानी डीजीजीआई और आयकर विभाग की टीम ने कन्नौज के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के कानपुर वाले घर पर छापा मारा था. इस दौरान अलमारियों में इतने पैसे मिले थे कि नोट गिनने की मशीनें बुलाई गईं. कुल आठ मशीनों के जरिए पैसे को गिना गया था.  

जैन तक कैसे पहुंची एजेंसियां

दरअसल, अहमदाबाद की डीजीजीआई टीम ने एक ट्रक को पकड़ा था. इस ट्रक में जा रहे सामानों का बिल फर्जी कंपनियों के नाम पर बनाया गया था. सभी बिल 50 हजार रुपये से कम थे, ताकि Eway Bill न बनाना पड़े. इसके बाद डीजीजीआई ने कानपुर में ट्रांसपोर्टर के यहां छापेमारी की.  यहां पर डीजीजीआई को करीब 200 फर्जी बिल मिले. यहीं से डीजीजीआई को पीयूष जैन और फर्जी बिलों का कुछ कनेक्शन पता लगा. 

इसके बाद डीजीजीआई ने कारोबारी पीयूष जैन के घर पर छापेमारी की. जैन के घर जैसे ही अफसर पहुंचे और अलमारियों में नोटों के बंडल पड़े थे. इसके बाद आयकर विभाग को सूचना दी गई. तभी से इन एजेंसियों की इत्र कारोबारी पर कार्रवाई जारी है. 

This content was originally published here.

Related Posts

Leave a Reply